भाजपा की शिकायत पर फ़ेसबुक ने बंद किए भीम आर्मी, रवीश कुमार सहित 14 पेज, कहने पर 17 को बहाल भी किया

भाजपा की अपील के बाद सभी 17 पेज फिर से शुरू हो गए हैं। फेसबुक ने भाजपा को बताया है कि ये 17 पेज 'गलती से' हटा दिए गए थे।

भाजपा ने लोकसभा चुनाव से पहले जनवरी 2019 में फेसबुक को 44 फेसबुक पेज की एक लिस्ट दी थी, इस लिस्ट में शामिल फेसबुक पेजेज का भाजपा द्वारा विरोध किया जा रहा था और इन्हें बंद करने की मांग की गई थी। भाजपा का दावा था कि ये पेज अपेक्षित मानकों का पालन नहीं कर रहे हैं और तथ्यहीन पोस्ट कर रहे हैं। सोमवार को जब चेक किया गया तो इनमें से 14 पेज फेसबुक पर नहीं थे।

भाजपा द्वारा जिन पेजों को बंद करने की मांग की गई थी, उनमें भीम आर्मी का आधिकारिक अकाउंट, ‘वी हेट बीजेपी’ पेज, कांग्रेस का समर्थन करने वाले अनाधिकारिक पेज और ‘द ट्रुथ ऑफ गुजरात’ जैसे पेज शामिल थे। शिकायत मिलने के बाद फेसबुक द्वारा जिन पेजों को बंद किया गया है, उनमें पत्रकार रवीश कुमार और विनोद दुआ के समर्थन वाले पेज शामिल हैं।

बीते साल नवंबर में भाजपा ने फेसबुक इंडिया से फेसबुक से हटाए गए 17 पेजों को फिर से शुरू करने और दो न्यूज वेबसाइट्स को मोनेटाइज करने को कहा था। जिन वेबसाइट को भाजपा द्वारा मोनेटाइज करने को कहा गया था, उनमें चौपाल और ओपइंडिया का नाम शामिल है। गौरतलब है कि भाजपा की अपील के बाद सभी 17 पेज फिर से शुरू हो गए हैं। फेसबुक ने भाजपा को बताया है कि ये 17 पेज ‘गलती से’ हटा दिए गए थे।

भाजपा की अपील पर जो 17 पेज फेसबुक द्वारा फिर से शुरू किए गए हैं, उन पर अधिकतर पोस्टकार्ड न्यूज की एक्सक्लूसिव खबरें पोस्ट की जाती हैं। हालांकि ये 17 पेज किसी राजनैतिक पार्टी से सीधे तौर पर जुड़े हुए नहीं हैं। बता दें कि जिस पोस्टकार्ड न्यूज की खबरें इन फेसबुक पेजेज पर शेयर की जाती हैं, उसके संस्थापक महेश वी हेगड़े को मार्च 2018 में बैंगलोर में कथित पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने और धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

विरोधी पेजों को बंद करने और भाजपा के समर्थन वाले पेजों को फिर से शुरू करने की मांग भाजपा के आईटी हेड अमित मालवीय द्वारा फेसबुक की इंडिया पब्लिक पॉलिसी एग्जीक्यूटिव अंखी दास और शिवनाथ ठकराल से की गई थी। फेसबुक को भेजे ईमेल में अमित मालवीय ने यह भी अपील की कि भाजपा के समर्थन वाले कुछ फेसबुक पेजों के बचाव के लिए उन्हें सुरक्षा देने पर भी बात हुई।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां